रेत समाधी[PDF] -गीतांजलि श्री | Ret Samadhi Geetanjali Shree Book PDF

Ret Samadhi Geetanjali Shree Book PDF – अगर आप गीतांजली श्री द्वारा लिखित रेत समाधी पुस्तक को PDF में डाउनलोड करना चाहतें हैं , तो इस पोस्ट में नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करके आप गीतांजली श्री द्वारा लिखित रेत समाधी किताब को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं

Ret Samadhi Book PDF

गीतांजलि श्री की ‘रेत समाधि’ उनका पांचवां उपन्यास है. इससे पहले उनके चार उपन्यास प्रकाशित हुए हैं, वे ‘माई’, ‘हमारा शहर उस बरस’, ‘तिरोहित’ और ‘खाली जगह’ हैं. गीतांजलि श्री ने एक दौर में कई कहानियां भी लिखी हैं. ये कहानियां ‘वैराग्य’ और ‘यहां हाथी रहते थे’ संग्रह में संकलित हैं. उनकी प्रतिनिधि कहानियों का एक संग्रह भी अलग से है. उनकी किस्सागोई में मार्मिक और मनोवैज्ञानिक विश्लेषण का जादू पसरा रहता है.

Ret Samadhi Book PDF Details

नाम रेत समाधी
लेखिका गीतांजलि श्री
CategorySelf Help
पेज की संख्या 360
भाषा हिंदी
प्रकाशक Penguin
फाइल फॉर्मेट PDF
 हिंदी की वरिष्ठ लेखिका गीतांजलि श्री के उपन्यास ‘रेत समाधि’ को इंटरनेशनल बुकर प्राइज 2022 के लिए चुना गया है 

Ret Samadhi Book PDF Summary

अस्सी की होने चली दादी ने विधवा होकर परिवार से पीठ कर खटिया पकड़ ली। परिवार उसे वापस अपने बीच खींचने में लगा। प्रेम, वैर, आपसी नोकझोंक में खदबदाता संयुक्त परिवार। दादी ने जि़द कि अब नहीं उठूँगी। फिर इन्हीं शब्दों की ध्वनि बदलकर हो जाती है अब तो नई ही उठूँगी। दादी उठती है। बिलकुल नई।

नया बचपन, नई जवानी, सामाजिक वर्जनाओं-निषेधों से मुक्त, नए रिश्तों और नए तेवरों में पूर्ण स्वच्छन्द। हर साधारण औरत में छिपी एक असाधारण स्त्री की महागाथा तो है ही रेत-समाधि, संयुक्त परिवार की तत्कालीन स्थिति, देश के हालात और सामान्य मानवीय नियति का विलक्षण चित्रण भी है।

और है एक अमर प्रेम प्रसंग व रोज़ी जैसा अविस्मरणीय चरित्र। कथा लेखन की एक नयी छटा है इस उपन्यास में। इसकी कथा, इसका कालक्रम, इसकी संवेदना, इसका कहन, सब अपने निराले अन्दाज़ में चलते हैं। हमारी चिर-परिचित हदों-सरहदों को नकारते लाँघते। जाना-पहचाना भी बिलकुल अनोखा और नया है यहाँ।

इसका संसार परिचित भी है और जादुई भी, दोनों के अन्तर को मिटाता। काल भी यहाँ अपनी निरंतरता में आता है। हर होना विगत के होनों को समेटे रहता है, और हर क्षण सुषुप्त सदियाँ। मसलन, वाघा बार्डर पर हर शाम होनेवाले आक्रामक हिन्दुस्तानी और पाकिस्तानी राष्ट्रवादी प्रदर्शन में ध्वनित होते हैं ‘कत्लेआम के माज़ी से लौटे स्वर’, और संयुक्त परिवार के रोज़मर्रा में सिमटे रहते हैं काल के लम्बे साए।

और सरहदें भी हैं जिन्हें लाँघकर यह कृति अनूठी बन जाती है, जैसे स्त्री और पुरुष, युवक और बूढ़ा, तन व मन, प्यार और द्वेष, सोना और जागना, संयुक्त और एकल परिवार, हिन्दुस्तान और पाकिस्तान, मानव और अन्य जीव-जन्तु (अकारण नहीं कि यह कहानी कई बार तितली या कौवे या तीतर या सडक़ या पुश्तैनी दरवाज़े की आवाज़ में बयान होती है) या गद्य और काव्य : ‘धम्म से आँसू गिरते हैं जैसे पत्थर। बरसात की बूँद।’

Ret Samadhi Book PDF Download

अगर आप रेत समाधी बुक को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दिए गये डाउनलोड लिंक पर क्लिक करें ,क्लिक करने पर आप डाउनलोड पेज पर Redirect कर दिए जायेंगे ,वहां से आप रेत समाधी बुक पीडीऍफ़ में आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं .

रेत समाधी बुक PDF

लेखिका के बारे में : गीतांजलि श्री

गीतांजलि श्री के चार उपन्यास — माई, हमारा शहर उस बरस, तिरोहित, खाली जगह — और चार कहानी-संग्रह — अनुगूँज, वैराग्य, प्रतिनिधि कहानियाँ, यहाँ हाथी रहते थे — छप चुके हैं। अंग्रेजी में एक शोध ग्रन्थ और अनेक लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी रचनाओं के अनुवाद भारतीय और यूरोपीय भाषाओं में हुए हैं। गीतांजलि थियेटर के लिए भी लिखती हैं। फेलोशिप, रेजिडेन्सी, लेक्चर आदि के लिए देश-विदेश की यात्राएँ करती हैं।

Conclusion– We hope you have downloaded the Tomb Of Sand Book PDF. If you are facing any issues in downloading, let me know in the comment section.

Disclaimer-Goodsoch.com provides the download links of important books only to help poor students who can’t afford these books. We do not own all the PDF books available on our website, nor have created and scanned them. If you have any problems related to this article then you can contact us. We will remove it soon.

Leave a Comment